समाचार फ्लैश
बांग्लादेश में बड़े निवेश के पीछे चीन की क्या है नीयत? खिलौनों के बाद अब चीन से आने वाली किस चीज़ पर लगाम लगाएगा भारत पेले ने फैन्स के लिए जारी किया संदेश, कहा- मज़बूत हूं, वर्ल्ड कप देख रहा हूं बेडरूम फोटोज शेयर करने पर तारक मेहता की रीटा रिपोर्टर भड़की एक्ट्रेस बोलीं - मैं कैसी पत्नी, कैसी मां... दिल्ली की मिनी सरकार चुनने के लिए वोटिंग जारी, केजरीवाल ने की ये अपील संधवा द्वारा पंजाब राज्य महिला गतका चैंपियनशिप की शुरुआत फौजा सिंह सरारी द्वारा बाग़बानी विभाग के समूह ब्लॉक अफसरों के संपर्क नंबरों की सूची प्रकाशित करने के निर्देश, जिससे किसान ज़रूरत पडऩे पर ले सकें सलाह पंजाब पुलिस की ए. जी. टी. एफ. द्वारा लारेंस बिशनोयी गैंग का मैंबर ढकोली से गिरफ़्तार; 20 पिस्तौलें, इनोवा कार बरामद विजीलैंस ब्यूरो द्वारा 1,15,000 रुपए की रिश्वत लेने वाले सेवामुक्त एसएमओ के विरुद्ध भ्रष्टाचार का मामला दर्ज उर्फी जावेद ने एक बार फिर शेयर की टॉपलेस वीडियो , यूजर्स जमकर कर रहे हैं कमेंट

मुख्यमंत्री द्वारा अकादमिक, पर्यटन और व्यापारिक क्षेत्रों में तजाकिस्तान के साथ बेहतर संबंधों पर ज़ोर

news-details

 Bolda Punjab

चंडीगढ़, 5 अक्तूबर:

पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने आज दोनों मुल्कों के लोगों की भलाई के लिए अकादमिक, पर्यटन, व्यापार और वाणिज्य के क्षेत्रों में तजाकिस्तान के साथ बेहतर सहयोग की माँग की। 

तजाकिस्तान के उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल के साथ आज मुख्यमंत्री ने अपनी सरकारी रिहायश पर मुलाकात की। इस मौके पर विचार-चर्चा के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि विश्व तेज़ी से वैश्विक गाँव के तौर पर उभर रहा है और विद्यार्थियों को शिक्षा के क्षेत्र में नये रूझानों से अवगत करवाने की ज़रूरत है। उन्होंने कहा कि ऐसी स्थिति में अलग-अलग देशों की यूनिवर्सिटियाँ, जो विद्या के मंदिर हैं, का अकादमिक सहयोग विश्व के कोने-कोने में ज्ञान की रोशनी फैलाने के साथ-साथ विद्यार्थियों के सर्वपक्षीय विकास में भी सहायक हो सकता है। भगवंत मान ने पंजाब और तजाकिस्तान के दरमियान विद्यार्थी और अध्यापकों के आदान-प्रदान प्रोग्राम की ज़रूरत पर ज़ोर देते हुये कहा कि यह राज्य और तजाकिस्तान के विद्यार्थियों के लिए बहुत लाभदायक साबित होगा। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि विद्यार्थियों के ज्ञान में विस्तार करना और अध्यापकों के हुनर को तराशना समय की ज़रूरत है, जिसमें ऐसीं पहलकदमियां अहम भूमिका निभा सकती हैं। भगवंत मान ने कहा कि पंजाब और तजाकिस्तान के विद्यार्थी और अध्यापकों के आदान- प्रदान के लिए प्रोग्राम शुरू करने का प्रयास कर सकते हैं, जिसमें राज्य सरकार उनको पूरा सहयोग देगी। उन्होंने पंजाब और तजाकिस्तान, दोनों के दरमियान पर्यटन क्षेत्र में आपसी सहयोग का पक्ष भी उभारा और उन्होंने फरवरी 2023 में राज्य में होने वाले निवेश पंजाब सम्मेलन में शामिल होने के लिए प्रतिनिधिमंडल को न्योता दिया। 

पंजाब और तजाकिस्तान के दरमियान व्यापार को बड़े स्तर पर खोलने की वकालत करते हुये मुख्यमंत्री ने कहा कि यह दोनों देशों के दरमियान आर्थिक गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए भी बहुत सहायक हो सकता है। एक मिसाल देते हुये उन्होंने कहा कि पंजाब की बासमती की तजाकिस्तान में बहुत माँग है और इसके निर्यात में विस्तार हुआ है, जिससे यह राज्य के किसानों की किस्मत बदल सकती है। भगवंत मान ने कहा कि राज्य सरकार तजाकिस्तान के साथ अकादमिक, पर्यटन, व्यापार और वाणिज्य के क्षेत्रों में बेहतर सम्बन्ध बनाने के लिए कोई कसर बाकी नहीं छोड़ेगी। 

इस दौरान प्रतिनिधिमंडल में इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी आफ टूरिज्म एंड ऐंटरप्रिन्योरशिप, तजाकिस्तान से उबैदुलो ऐसोरज़ोदा, विदेश मामलों के वाइस रेक्टर जबरोव फतेहउल्ला अमरीविच, अर्थशास्त्री डाक्टर उमरोव खोजामहमद, डीन, टैकनिकल यूनिवर्सिटी, तजाकिस्तान रुस्तम चोलमातोव ने मुख्यमंत्री को पंजाब और तजाकिस्तान के बीच अच्छे संबंधों का भरोसा दिया।