समाचार फ्लैश
बांग्लादेश में बड़े निवेश के पीछे चीन की क्या है नीयत? खिलौनों के बाद अब चीन से आने वाली किस चीज़ पर लगाम लगाएगा भारत पेले ने फैन्स के लिए जारी किया संदेश, कहा- मज़बूत हूं, वर्ल्ड कप देख रहा हूं बेडरूम फोटोज शेयर करने पर तारक मेहता की रीटा रिपोर्टर भड़की एक्ट्रेस बोलीं - मैं कैसी पत्नी, कैसी मां... दिल्ली की मिनी सरकार चुनने के लिए वोटिंग जारी, केजरीवाल ने की ये अपील संधवा द्वारा पंजाब राज्य महिला गतका चैंपियनशिप की शुरुआत फौजा सिंह सरारी द्वारा बाग़बानी विभाग के समूह ब्लॉक अफसरों के संपर्क नंबरों की सूची प्रकाशित करने के निर्देश, जिससे किसान ज़रूरत पडऩे पर ले सकें सलाह पंजाब पुलिस की ए. जी. टी. एफ. द्वारा लारेंस बिशनोयी गैंग का मैंबर ढकोली से गिरफ़्तार; 20 पिस्तौलें, इनोवा कार बरामद विजीलैंस ब्यूरो द्वारा 1,15,000 रुपए की रिश्वत लेने वाले सेवामुक्त एसएमओ के विरुद्ध भ्रष्टाचार का मामला दर्ज उर्फी जावेद ने एक बार फिर शेयर की टॉपलेस वीडियो , यूजर्स जमकर कर रहे हैं कमेंट

बड़ी खबर: केजरीवाल की सोलन रैली में हंगामा व मारपीट, एखिये पूरा मामला

news-details

सोलन: Kejriwal's Solan Rally: सोलन में वीरवार की दोपहर को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल(Arvind Kejriwal) के रोड़ शो(Road Show) के दौरान खूब हंगामा बरपा। इस दौरान मारपीट भी हुई और बाद में मामले को शांत करवाया गया।
 जानकारी के अनुसार पंजाब से कुछ कर्मचारी संगठन आम आदमी पार्टी के विरोध में प्रदशन कर रहे थे, जिनके साथ मारपीट हुई है। आम आदमी पीर्टी सोलन के कार्यकर्ता उनके साथ उलझ गए थे। पंजाब से आए कर्मचारियों ने आप पार्टी पर वादाखिलाफी का आरोप लगाया।

क्या था मामला
 सोलन में वीरवार को आप पार्टी नेता व दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोलन मालरोड़ पर रोड़ शो कर रहे थे। सोलन के पुराना बस स्टैंड में रोड़ शो में उपस्थित कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे।   इसी दौरान पंजाब से आए कर्मचारी संगठनों के  लोगों ने अपने पंपलेट निकाले और मीडिया कर्मियों को दिखाने लगे। इससे स्थानीय आप कार्यकर्ता तैश में आ गए। दोनों गुट आपस में  उलझने लगे। इससे सोलन में हंगामा हो गया। स्थानीय कार्यकर्ताओं ने भी उन पर हाथ चला दिए, लेकिन मौके पर मौजूद पुलिस ने मामले को शांत करवाया।
हिमाचल के बाद गुजरात भी जाएंगे....
इस मौके पर पंजाब ईटीटी टैट पास अध्यापक संगठन के अध्यक्ष कमल ठाकुर व अन्य ने बताया कि आप पार्टी ने पंजाब में ईटीटी टैट पास अध्यापकों के साथ वादा खिलाफी की है और हिमाचल की जनता को भी इनके असली चेहरे का पता चलना चाहिए। उन्होंने कहा कि हिमाचल के बाद वह गुजरात में होने वाले विधानसभा चुनाव में जाएंगे।
क्या था ऐसा पंपलेट में
 पंपलेट में लिखा है कि  पंजाब आम आदमी पार्टी 180 ईटीटी टैट पास अध्यापकों के  साथ किए वायदों से भागी..
- पंजाब में 180 ईटीटी टैट पास अध्यापकों के साथ गैर कानूनी धक्का।
- चुनावों से पहले आप ने पंजाब के ईटीटी टैट पास अध्यापकों के साथ हो रहे गैरकानूनी धक्के मैं इंसाफ करने का वायदा किया था, लेकिन चुनाव जीतने के बाद अपने वायदों से भागी।
- हम 2016 से 4500 ईटीटी अध्यापकों की भर्ती में रेगुलर अध्यापक चुने गए थे। हमने अपना परखकाल समय भी पूरा कर लिया था और 6 साल की रेगुलर नौकरी करने के बाद 4500 अध्यापकों में से सिर्फ 180 अध्यापकों का वेतन बिना किसी कसूर या कानून के आधार कर दिया गया। जोकि गैर कानूनी है। क्योंकि एक ही भर्ती में एक ही पद, एक ही दिन ज्वाइन किए गए अद्यापकों को अलग-अलग वेतन नहीं दिया जा सकता।
2. 4500 अध्यापकों में से 180 रेगुलर/ कन्फर्म अद्यापकों के तौर पर की गई 6 साल की सविर्स गैरकानूनी तरीके से खत्म करके दोबारा से नए नियुक्ति पत्र दिए गए जोकि असंवैधानिक है
3. इन रेगुलर 180 अध्यापकों ने अपना प्रोबेशन परखकाल समय पूरा कर लिया, इसके बावजूद इन पर दोबारा से 3 साल का प्रोबेशन/ परखकाल समय जबरी लगाया गया।

 ये हैं मांगे....

 ईटीटी टैट पास अध्यापक एसोसिएशन 6500 ( जे सिंह वाला) यह पुरजोर मांग करती है कि इन 180 ईटीटी अध्यापकों को इनकी मूलभूत भर्ती (4500) के सारे वह लाभ, जो इनके साथ भर्ती किए अध्यापकों को मिल रहे हैं, वह दिए जाएं।