समाचार फ्लैश
लोगों और संगतों की समस्याओं को देखते हुए गुरुद्वारा सिंह शहीदां के बाहर से धरना हटाया : आशिका जैन राज्य में अमन और भाईचारे के साथ खिलवाड़ करने की साजिशें रचने वालों के खि़लाफ़ सख़्त कार्रवाई यकीनी बनाई जायेगी : मुख्यमंत्री विदेशों को भी सप्लाई होगी पंजाब की मिर्चें लोक संपर्क मंत्री ने फाजिल्का में किया श्री अरूट जी महाराज की मूर्ति का उद्घाटन सरकारी नौकरियों के लिए मैरिट ही एकमात्र योग्यता -मुख्यमंत्री कपास बेल्ट के किसानों को 1 अप्रैल से मिलेगा नहरी पानी ,नहरों की सफाई 31 मार्च तक पूरा करने के निर्देश मुख्यमंत्री ने फाजि़ल्का में 578.28 करोड़ की लागत वाले नहरी पानी आधारित प्रोजैक्ट का नींव पत्थर रखा भारतीय सेना की भर्ती प्रक्रिया में हुआ बदलाव - कर्नल सौरभ चरण मुख्यमंत्री ने केंद्रीय वातावरण मंत्री के समक्ष टैक्सों और ग्रामीण विकास फंडों का बकाया तुरंत जारी करने का मसला उठाया पंजाब पुलिस ने ग़ैर-कानूनी तस्करी को रोकने के लिए चलाया ‘ऑपरेशन सील’

सरकारी नौकरियों के लिए मैरिट ही एकमात्र योग्यता -मुख्यमंत्री

news-details

 Bolda Punjab
चंडीगढ़, 28 फरवरी:  

राज्य के नौजवानों को रास्ते से भटकाने के लिए पिछली सरकारों की आलोचना करते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने मंगलवार को कहा कि उनकी सरकार ने 26,797 से अधिक नियुक्ति पत्र देकर नौजवानों को कमाऊ बनाया है, जिससे उनको राज्य की सामाजिक-आर्थिक तरक्की में सक्रिय भागीदार बनाया जाए।  
नए भर्ती हुए वैटरनरी अफसरों को नियुक्ति पत्र सौंपते हुए जनसभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि यह समूची भर्ती प्रक्रिया केवल मैरिट के आधार पर पारदर्शी तरीके से पूरी की गई है। उन्होंने कहा कि अब यह नौजवान सरकार के अभिन्न अंग बन गए हैं और अब से उनको पूरे उत्साह के साथ लोगों की सेवा करनी चाहिए। भगवंत मान ने कहा कि केवल 11 महीनों के दौरान इतनी बड़ी संख्या में नौकरियाँ देने से राज्य सरकार की प्रतिबद्धता का पता चलता है कि नौजवानों का कल्याण सुनिश्चित बनाने और उनके लिए रोजग़ार के नए अवसर खोलने के लिए सरकार कितनी संजीदा है।  
मुख्यमंत्री ने नौजवानों को पैराशूटर की जगह ज़मीन से जुड़े रहने का न्योता दिया। उन्होंने कहा कि ज़मीन से जुड़ा व्यक्ति ज़मीन से उठकर आसमान तक को जीत सकता है और इन मेहनती लोगों की सीमा आसमान ही होती है। इसके उलट पैराशूटर आसमान से आते हैं और उन्होंने कभी न कभी ज़मीन पर गिरना होता है।  
मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार का एकमात्र मंतव्य नौजवानों की अथाह शक्ति को रचनात्मक तरीके से इस्तेमाल करना है। उन्होंने कहा कि पंजाब को देश का नंबर एक राज्य बनाने के लक्ष्य की पूर्ति के लिए यह समय की मुख्य ज़रूरत है। भगवंत मान ने कहा कि उनकी सरकार राज्य की पुरातन शान बहाल करने के लिए भविष्य के लिए योजना बना रही है।  
मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार ने ठेके के आधार पर काम करने वाले 14 हज़ार कर्मचारियों की सेवाओं को रेगुलर कर दिया है और कैबिनेट ने इतनी संख्या में ही अन्य कर्मचारियों की सेवाएँ रेगुलर करने की मंज़ूरी दे दी है। उन्होंने कहा कि यह पहला मौका है कि पंजाब पुलिस ने 2100 पदों की भर्ती निकाली है और यह फ़ैसला किया गया है कि आने वाले चार सालों के दौरान सिपाही की 1800 और सब-इंस्पेक्टरों के 300 पद हर साल भरे जाएंगे। भगवंत मान ने कहा कि राज्य सरकार नौजवानों के लिए रोजग़ार के नए अवसर पैदा करने के लिए औद्योगिक विकास को तेज़ करने की ओर ध्यान दे रही है।  
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार जल्द ही ‘सरकार आपके द्वार’ कार्यक्रम की शुरुआत करने पर विचार कर रही है, जिसके अंतर्गत पंजाब निवासियों को 40 नागरिक केंद्रित सेवाएँ उनके द्वार पर जाकर मुहैया करवाई जाएंगी। उन्होंने कहा कि यह योजना ऐप के ज़रिये ऑनलाइन मुहैया होगी और नागरिकों को केवल एक फ़ोन कॉल से इस योजना का लाभ मिलेगा। भगवंत मान ने कहा कि इससे नागरिकों को बिना किसी परेशानी के सेवाएँ हासिल होंगी।  
मुख्यमंत्री ने पंजाब निवासियों ख़ासकर मीडिया को न्योता दिया कि नौजवानों को भडक़ा कर राज्य को अस्थिर करने की कोशिशें करने वाले लोगों को मुँह ना लगाएँ। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार का एकमात्र उद्देश्य अमन- शान्ति, विकास एवं ख़ुशहाली लाना है और इस मनोरथ को लोगों के सक्रिय सहयोग से पूरा किया जा सकता है। भगवंत मान ने कहा कि राज्य में सांप्रदायिक सद्भावना और आपसी-भाईचारे को और मज़बूत किया जा सकता है।  
मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार कृषि के सहायक पेशों को प्रोत्साहित करने की तरफ और ज्यादा ध्यान दे रही है, जिससे किसानों की आमदन बढ़ाई जा सके। भगवंत मान ने कहा कि राज्य सरकार फूड प्रोसैसिंग सैक्टर पर ज़ोर दे रही है और गन्ना, लीची, लहसुन और किन्नू समेत अन्य फलों के लिए जल्द ही प्रोसैसिंग प्लांट स्थापित करेगी। इसी तरह उन्होंने कहा कि मिल्कफैड के द्वारा दूध का उत्पादन बढ़ाने पर भी ज़ोर दिया जा रहा है, जिससे इसका विस्तार अन्य राज्यों में किया जा सके।  
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के उत्पाद वैश्विक स्तर पर ख़ासकर पंजाबी भाईचारे में बहुत प्रसिद्ध हैं। उन्होंने कहा कि राज्य के उत्पादों ने ग्रामीण एवं क्षेत्रीय मार्केट के बाद घरेलू और अंतरराष्ट्रीय मार्केट में बड़ा नाम कमाया है। भगवंत मान ने कहा कि किसानों को इन वस्तुओं की प्रोसैसिंग के द्वारा और अधिक लाभ देने के प्रयास किए जा रहे हैं।  
राज्य सरकार के लोक हितैषी प्रयासों का जि़क्र करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने 1 जुलाई से प्रति माह 300 यूनिट मुफ़्त बिजली देने की गारंटी पूरी कर दी है। उन्होंने कहा कि यह बहुत संतुष्टि की बात है कि राज्य के 87 प्रतिशत घरों को बिजली का बिल ज़ीरो आ रहा है। भगवंत मान ने कहा कि वह ख़ुद साधारण परिवार से हैं और अच्छी तरह से जानते हैं कि उनको कौन सी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है।  
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने लोगों को मानक स्वास्थ्य सेवाएँ मुहैया करवाने के लिए राज्य भर में 500 आम आदमी क्लीनिक शुरू किए हैं। उन्होंने कहा कि बेहतर शिक्षा मुहैया करवाने के लिए ‘स्कूल ऑफ ऐमिनेंस’ स्थापित किए जा रहे हैं। भगवंत मान ने कहा कि यह प्रगतिशील पंजाब की नई सुबह है और वह दिन दूर नहीं, जब राज्य सरकार के निरंतर प्रयासों के स्वरूप पंजाब हरेक क्षेत्र में मुल्क में अग्रणी होगा।  
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार यह सुनिश्वित बनाएगी कि आने वाली गर्मियाँ और धान के सीजन के दौरान बिजली की कोई कमी नहीं आएगी। उन्होंने कहा कि राज्य में बिजली के लम्बे कट लगने के दिन लद चुके हैं, क्योंकि पंजाब अतिरिक्त बिजली वाला राज्य बनने की ओर बढ़ रहा है। भगवंत मान ने कहा कि उनकी सरकार के प्रयासों के स्वरूप राज्य में बिजली उत्पादन में 83 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।  
इस अवसर पर कैबिनेट मंत्री लालजीत सिंह भुल्लर ने भी अपने विचार पेश किए।  
इससे पहले पशु पालन विभाग के प्रमुख सचिव विकास प्रताप ने आदरणीयों का स्वागत किया।